Skip to product information
1 of 2

द्रव्य संग्रह

द्रव्य संग्रह

Regular price Rs. 0.00
Regular price Sale price Rs. 0.00
Sale Sold out

आज मुनिश्री ने सामान्य से बहुत कठिन लगने वाले कई सैद्धान्तिक एवं आध्यात्मिक ग्रंथों को अपने प्रवचन के माध्यम से विवेचन कर बहुत ही सरल बना दिया है। उसे श्रंखला में व्याख्यान श्री नेमिचन्द्र द्वारा प्राकृत गांथाओं में रचित श्री द्रव्य संग्रह की यह हिंदी टीका मुनि श्री की मधुर वाणी को सुनते हुए गुंथी गठी वह मंगल रचना है। मुनि श्री द्वारा दिए गए प्राकृत भाषा के ज्ञान ने इस महान ग्रंथ को मानने वालों के लिए छह द्रव्य और सात तत्वों का मर्म खोजा ओर भी समझा बना दिया।

View full details